भए प्रकट स्वामी हरीदास

तर्ज़ :- ब्रज का लोक रसिया ( बधाई )

भए प्रकट स्वामी हरीदास ,श्री ललिता सखी अवतार लियो -2


1 . श्री गंगाधर चित्रा दुलारे -2
                स्वामी आसुधीर के शिष्य प्यारे -2
    करने को निधिवन वास , श्री ललिता सखी अवतार लियो।
   भए प्रकट स्वामी.....

2 . भक्तों के भाग्य जगाने को -2
                   रास पीने और पिलाने को -2
   आये महाभाव रसराज ,श्री ललिता सखी अवतार लियो।
   भए प्रकट स्वामी.....

3 . जिस दिन प्रकटी वृषभानु सुता ,
                   उसी दिन दिखियो हरिदास छटा ,
    राधा अष्टमी दिन बड़ो खास , श्री ललिता सखी अवतार लियो।
    भए प्रकट स्वामी.....

4 . राजपुर में बधाइयां साज़ बजे ,
                  वृन्दावन संत समाज सजे ,
    छाया मधुप है हर्षोल्लास , श्री ललिता सखी अवतार लियो।
   भए प्रकट स्वामी.....।
download bhajan lyrics (75 downloads)