सावरिया मन भाया रे

सावरिया मन भाया रे,
सावरिया मन भाया रे ।

सोहिनी सूरत, मोहिनी मूरत,
हृदय बीच समाया रे ।

देश में ढूंढा, विदेश में ढूंढा,
अंत को अंत ना पाया रे ।

काहू में एहमद, काहू में ईसा,
काहू में राम कहाया रे ।

सोच कहे यकरंग पिया,
जिन ढूंढा तिन पाया रे ।
श्रेणी
download bhajan lyrics (865 downloads)