कन्हैया आछी बजाई रे कान्हा बासुरी

कन्हैया आछी बजाई रे कान्हा बासुरी ॥
म्हारा हिवाड़ा मे उठे रे हिलोळ॥
कन्हैया आछी बजाई रे कान्हा बासुरी,

कन्हैया राधा तो सूती रंग रा महल मे ॥
ज्यारी अखियारी ॥ नीदडली उड़ाय ॥
कन्हैया आछी बजाई रे कान्हा बासुरी

कन्हैया नदी किनारे थारो गाव रे ॥
बठे ठंडी ठंडी ॥ आवेरे हिलोळ ॥
कन्हैया आछी बजाई रे कान्हा बासुरी

कन्हैया गोकुल मे बाजे थारी बासुरी ॥
बठे नाच रया हे नर और नार ॥
कन्हैया आछी बजाई रे कान्हा बासुरी

कन्हैया राधा तो सुन सुन हो गयी बावरी॥
बातो छोड़ दिया है घर और बार ॥
कन्हैया आछी बजाई रे कान्हा बासुरी
श्रेणी
download bhajan lyrics (233 downloads)