चारदा फिरे ओ गऊयां चारदा फिरे

चारदा फिरे ओ गऊयां चारदा फिरे,
वृन्दावन विच मौजा मारदा फिरे,
जदो मैंनो श्याम दा दीदार हो गया,
पकदियां रोटियां बचाले छडियां,
वृन्दावन जाके नजारा देख लो,
नाले श्याम सुन्दर दा द्वारा देख लो,
जदो मैंनो श्याम दा दीदार हो गया......

यमुना दे कण्डे उत्ते जाई जांदा ऐ,
गोपियां नूं घर ते बुलाई जांदा ऐ,
जदो मैं बंसरी दी तान सुन लई,
पकदियां रोटियां बचाले छडियां,
चारदा फिरे ओ......

घर घर मक्खन चुराई जांदा ऐ,
दूध वाली मटकी गिराई जांदा ऐ,
जदो श्याम मक्खन चुरा के लै गया,
पकदियां रोटियां बचाले छडियां,
चारदा फिरे ओ......

यमुना दे कण्डे उत्ते जाई जांदा ऐ,
गोपियां दे चीर चराई जांदा ऐ,
जदो श्याम चीर चुरा के लै गया,
ओ पक्कदियां रोटियां बचाले छडियां,
चारदा फिरे ओ.......
श्रेणी
download bhajan lyrics (244 downloads)