मोरछड़ी के झाड़े की क्या बात है

श्याम थारी मोरछड़ी, श्याम थारी मोरछड़ी,
श्याम थारी मोरछड़ी …………

मोरछड़ी के झाड़े की क्या बात है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है,
ओ बेड़ा पार है ओ भव से पार है….

दुखियों के दुख हरति है ये, बिगड़े काम करती है ये,
पाख पाख में श्याम जी का वास है,
पाख पाख में श्याम जी का वास है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है,
मोरछड़ी के झाड़े की क्या बात है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है……

मोर छड़ी का जादू निराला,
खोले ये बंद किस्मत का ताला,
सब भक्तों का करती ये उधार है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है,
मोरछड़ी के झाड़े की क्या बात है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है……..

श्याम बहादुर जी ने भी इसके गुण को गाया है,
युगो युगो से महिमा ये अपार है,
युगो युगो से महिमा ये अपार है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है,
मोरछड़ी के झाड़े की क्या बात है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है……..

श्याम है नईया कामा जी तो मोरछड़ी पतवार है,
मेरे भरोसे पर ही ये संसार है,
मेरे भरोसे पर ही ये संसार है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है,
मोरछड़ी के झाड़े की क्या बात है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है……

सोनू सांवरा दास तेरा, जींद का रहने वाला रे,
मेरी जिंदगी का तू पालनहार है,
मेरी जिंदगी का तू पालनहार है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है,
मोरछड़ी के झाड़े की क्या बात है,
जिसको लग जाए हो जाए बेड़ा पार है……
download bhajan lyrics (263 downloads)