खाटू में मची धमाल

उड़े उड़े अभीर गुलाल फागण आयो रे,
खाटू में मची धमाल फागण आयो रे फागण आयो रे,
होली खेलु गा श्याम के संग रंग लगाऊ सँवारे को ,
फागण आयो रे,

महारा श्याम भी हुआ रंगीला कैसे सझ रहा छैल छबीला,
शृंगार देख के सब ढंग लगाऊ गा रंग सँवारे को,
फागण आयो रे,

कही ढोल नगाड़े भाजे सब प्रेमी छमा चम नाचे ,
डफ भजे मंजीरा चंग लगाऊ गा रंग
फागण आयो रे,

रुत फागनिये ऋ आई,कैसी मस्ती कमल पे छाई,
म्हारे मन में उठी उमंग लगाऊ गा रंग सँवारे को,
फागण आयो रे,
download bhajan lyrics (49 downloads)