ओढो दादी माँ

ओढो़ दादी मां .थारी चुनर लायां हां
म्हें तो म्हारी मैया न. उढावण आया हां .

लाल सुरंगी चुनर लाया
तारा खुब लगाया मां
आशमान का तारा चमक
ज्यूं चुनर चमकाया मां
सेठाणी न आज सजावण आया हां
म्हें तो......

चांदी रो गोटो लगवायो
मोरया बुंटी लगाई मां
अपने ही हाथां सुं मैया
चुनर थारी सजाई मां
अपन हाथां सुं म्हे उढावण आया हां
म्हें तो........

भाव भरी या चुनर म्हारी
स्वीकारो हे मात भवानी
थे हो म्हारी मैया रानी
म्हे थारा बालक अग्यानी
अपनी माता न म्हे मनावण आया हां
म्हे तो..........
download bhajan lyrics (186 downloads)