ओ मेरे भोले बाबा पलका उघाड़ो

ओ मेरे भोले बाबा, पलका उघाड़ो सावन आ गयो।

सावन क महीना में बाबा, बिल्व पत्र चढ़ावा-॥
आक धतूरा, और कनिर का बाबा फूल चढ़ावां जी
ओ मेरे भोले बाबा.......

हरिद्वार और लोहागर से भगतां
कावड़ ल्यावे-॥
दूध दही और पंचामृत से बाबा ने नहलावे जी
ओ मेरे भोले बाबा......

सावन क महीना में थारे लोटा जल
जो चढ़ावे-॥
सगळा संकट बिका बाबो पल म
दूर भगावे जी
ओ मेरे भोले बाबा.......

सावन का महीना की भगतो
महिमा है बड़ी भारी-॥
जो भी ऐं की शरण में आवे, विपदा
मिट ज्या सारी जी
ओ मेरे भोले बाबा.....

लाज राखियो भोले शंकर चरणां
शीश नवावैं-2
सब भगतां के सागे बाबा "मनु"भी
थाने ध्यावे जी

ओ मेरे भोले बाबा, पलका उघाड़ो
सावन आ गयो।

भजन रचना.....
मनोज कुमार ठठेरा "मनु"
झुंझुनू (राज.)
मो..9828039423
श्रेणी
download bhajan lyrics (183 downloads)