साडे घर जगराता झंडेया वाली ने औना ऐ

तू ढोल बजावे ढोलिया अज पौनिया ने बोलियाँ
बोलियाँ दे विच मैं दा नाम ध्योना ऐ,
साडे घर जगराता झंडेया वाली ने औना ऐ,
झंडेया वाली ने औना ऐ मेरी दाती ने औना ऐ,

सब महंता दी मंडली ने आदि गणेश मनाये ने
दुरो दुरो भगत प्यारे भेटा लैके आये ने
तरकेया वाहन देव्तेया दा शीश झुकाउना इ
साडे घर जगराता झंडेया वाली ने औना ऐ,
झंडेया वाली ने औना ऐ मेरी दाती ने औना ऐ,

माँ दे नाम दा हथ कलावा मथे टिके लाये ने
जग मग जगदी ज्योत नुरानी खुले दर्शन पाए ने
माँ दे सोहने चरना विचो सब सुख पौना इ
साडे घर जगराता झंडेया वाली ने औना ऐ,
झंडेया वाली ने औना ऐ मेरी दाती ने औना ऐ,

रवि जयपुरिया भेटा गावे ढोलक छैने वजदे ने
ढोली ढोल बजा तू दबके भगत प्यारे न्च्दे ने
पन्ने ने भी नच नच माँ दा शुकर मनाउना इ,
साडे घर जगराता झंडेया वाली ने औना ऐ,
झंडेया वाली ने औना ऐ मेरी दाती ने औना ऐ,
download bhajan lyrics (402 downloads)