लाड़ो है सबकी प्यारी

लाड़ो है सबकी प्यारी बरसाने वारी
एक छोटी सी नन्ही सी विषभानु दुलारी

तेरे दर से मिलती  खुशिया सबको सारी
दुःखियों को देके जगह बरसाने में बुलाया है
दर पे जो आया तेरे उसने सब कुछ पाया है
श्री राधा रानी तेरे चरणों मे है नमन

लाड़ो है सबकी प्यारी बरसाने वारी
एक छोटी सी नन्ही सी विषभानु दुलारी
{२}
उची है अटारी मेरी बरसाने वारी की
आते है तेरी शरण तूने ऐसा रस बरसाया है
राधा नाम लेके मेने श्याम को बुलाया है
मेरी लाड़ो प्यारी को न लागे किसी नज़र

लाड़ो है सबकी प्यारी बरसाने वारी
एक छोटी सी नन्ही सी विषभानु दुलारी

स्वर कपिल खुराना
लेखक कपिल खुराना
श्रेणी
download bhajan lyrics (41 downloads)