तू ही मंजिल मेरी है और तू सहारा है

तू ही मंजिल मेरी है और तू सहारा है,
सारी दुनिया में सांवरे तू सबसे प्यारा है,

तू ही हर साज में तू ही स्वर में,
धरती आकाश और चराचर में,
पल में सबकुछ बदल दे श्याम का ईशारा है,
सारी दुनिया में सांवरे.......

जान पत्थर में तुमने डाली है,
तेरी लीला प्रभु निराली है,
डूबती नाव का प्रभु तू ही बस किनारा है,
सारी दुनिया में सांवरे....

ताली के बिन तू खोल दे ताले,
रह गए दंग देखने वाले,
एक पल भी तुम्हारे बिन नहीं गुजारा है,
सारी दुनिया में सांवरे...