दिल दीवाना श्याम का

दिल दीवाना श्याम का मेरा चैन वैन सब खो गया
सब हो गया मेरे श्याम का
दिल दीवाना श्याम का

मीठी मीठी बाते करता है देखो मन में कैसे ये मुस्काता है
बंसी की नोक पे ये सब को देखो ऊँगली पे कैसे नचाता है
मेरी सुध बुध जैसे खो गई मैं हो गई पूरी श्याम की
दिल दीवाना श्याम का

मन मेरा कही लगता न कोई समजे न श्याम के बिना
कैसे मैं बताऊ कैसे कट ता मेरा दिन चैन और रैना,
मैं पल पल जपती रहती माला मेरे श्याम घनश्याम का
दिल दीवाना श्याम का
श्रेणी