तेरी मेहरे नजर ऐसा कर गई असर

तेरी मेहरे नजर ऐसा कर गई असर
जब से मुझपे हुई माँ मजा आ गया
गया मैं दर बदर घुमा इधर उधर जब से दर तेरे आया मजा आ गया,

जब दीवाना हुआ मैं तेरे नाम का
लोग शोह्दाई मुझको समजने लगे
तेरा दीवाना बन तेरा शोह्दाई बन
तेरा करके भजन माँ भजन आ गया,
तेरी मेहरे नजर ऐसा कर गई असर

रेत ही रेत थी जिन्दगी ये मेरी
काम कोई करू काम बनता न था
तूने ऐसा सवारा मुकदर मेरा सारी दुनिया में संदीप है छा गया
तेरी मेहरे नजर ऐसा कर गई असर

चिन्तपुरनी तेरी हाजरी भर के मैं इस जमाने में जब जब याहा भी गया
काम भी बन गया नाम भी बन गया
फेम ऐसा मिला के मजा आ गया
तेरी मेहरे नजर ऐसा कर गई असर

दिल में थी आरजू तेरा दीदार कर
तेरी चोंकी रचाऊ मैं रात बन
सुन के मेरी सदा रुभ रु आ गई
तेरा गुणगान गा के मजा आगेया
तेरी मेहरे नजर ऐसा कर गई असर