इक जन्म दें वाली दूजी शेरावाली माँ

माँ दे पैरा दे भी जन्नत पूरी हुंदी हर इक ममंत
रब तो भी एह उचा ते सुचा जिहदा नाम
इक जन्म दें वाली दूजी शेरावाली माँ

माँ ममता दी मूरत बड़े ही लाड लदौन्दी है
शेरावाली मैया बिगड़े कम ब्नाउन्दी है,
बचेया उते रखदी सदा रेहमता वाली छा,
इक जन्म दें वाली दूजी शेरावाली माँ

भरे खजाने माँ मेरी देझोलियाँ भर लो जी
घर विच बैठी माँ दी भी तुसी सेवा  कर लो जी
इक समान है रुतबा जग विच दोवा दा,
इक जन्म दें वाली दूजी शेरावाली माँ

नाम समुन्दरा दे विच जेह्डा तारियाँ लौंदा है,
बिन मंगेया ही माँ कोलो ओह सब कुछ पाउंदा है
दिल माँ दा सब तो बड़ा माँ करदी माफ़ गुन्हा,
इक जन्म दें वाली दूजी शेरावाली माँ

लाल भगत कार्तिक माँ दियां भेटा गाउंदा ऐ,
जिस ने जम्या जाया उसदा शुकर मनाउन्दा है
ना सिप्पे कोलो हॉवे मावा दी सिफत व्यान
इक जन्म दें वाली दूजी शेरावाली माँ
download bhajan lyrics (29 downloads)