लैलो कंजका मैं वैष्णो तो आई आ

लैलो कंजका मैं वैष्णो तो आई आ
माँ मेरी दा सचा द्वारा उचे पर्वत विच नजारा
लैलो भगतो मैं केक भी चडाई आ
लैलो कंजका मैं वैष्णो तो आई आ

वान गंगा विच नहा के आई बुला मैं बक्शा के आई
पी लो भगतो गंगा जल भी लै आई आ
लैलो कंजका मैं वैष्णो तो आई आ

लखा लोकी दर ते आउंदे अपने दिल दा हाल सुनादे
वेखो भगतो मैं फोटो खीच वाई आ
लैलो कंजका मैं वैष्णो तो आई आ

मेरे दिल दी आस बड़ी सी माँ दर्शन दी प्यास बड़ी सी
ज्योत जग दी ते होई रुश्नाई आ
लैलो कंजका मैं वैष्णो तो आई आ
download bhajan lyrics (29 downloads)