चल चलिए माता दे रुत दर्शन करन दी आई

चल चलिए माता दे रुत दर्शन करन दी आई
उचेया पहाड़ा विच बैठी महामाई
चल चलिए माता दे रुत दर्शन करन दी आई

करमा वाला वेला अज माँ ने साहणु दिता है
खुशिया दे नाल साडा पल्ला भर दिता है
सोई तकदीर साडी माँ ने जगाई
चल चलिए माता दे रुत दर्शन करन दी आई

आया नहियो जांदा तेरे हुकम बगैर माँ
जिहनू तू बुलावे दोडा आवे नंगे पैर माँ
भगता प्यारेया नु माँ ने चिठ्ठी पाई
चल चलिए माता दे रुत दर्शन करन दी आई

तेरे बिना दाती सारी गल्ला ने अधुरियां दर तेरे आके होवे मनता ने पुरियां
सागर ते मेहरा वाली कर्म कमाई
चल चलिए माता दे रुत दर्शन करन दी आई
download bhajan lyrics (594 downloads)