धरो मन मुरत कृष्ण काले की

         ॐ श्री सत्नाम साक्षी
भजन तर्ज़ -  रेशमी सलवार कुर्ता जाली का

 धारो मन मूरत कृष्ण काले की,
 गोवर्धनधारी मुरली वाले की...

1. जांके कुण्डलों की छबि भारी
   मोर मुकुट की झलक न्यारी ।
   उर माल बैजन्ती धारी,
   मोहिनी मूरत लगे प्यारी ।
   जगत उजियाले की,
   गोवर्धनधारी मुरली वाले की...

2. जांके नूपर छम छम बाजे
   देख रूप चन्दमा लाजे ।
   मुरली की सुन आवाज़े
   तज काम गोपियों भाजे ।
   ब्रज रखवाले की,
   गोवर्धनधारी मुरली वाले की...

3. कटि काछनी सुन्दर सोहे ,
   पीताम्बर मन को मोहे ।
   यह ध्यान पाप सब खाये,
   कहे टेऊँ मैल को धोये ।
   नाथ नन्दलाले की,
   गोवर्धनधारी मुरली वाले की...
श्रेणी
download bhajan lyrics (943 downloads)