तेरा लख-लख शुक्र करा माँ झंडेया वाली

तेरा लख-लख शुक्र करा माँ झंडेया वाली
चरना विच बक्शी था माँ झंडेया वाली
तेरा लख-लख शुक्र करा

तेरा दरबार साडे दिला दा ठिकाना है
मुड मुड बचेया ने माँ दे कोल आना है
नित देवी तू खुशियाँ माँ झंडेया वाली
तेरा लख-लख शुक्र करा

दोष कदे बचेया दे चेते नहियो रखदी
भगता दी भगती नु कदे न परख दी
कर दी ममता दी छा माँ झंडेया वाली
तेरा लख-लख शुक्र करा

जदों दी मैया तू साडी बाह फड लई है,
जिन्दगी दे विच कोई थोड भी न रही है
सब पुरे हुए अरमान माँ झंडेया वाली
तेरा लख-लख शुक्र करा

लफ्जा दे विच किवे करा मैं बखान माँ
रब नालो उची सूचि लगे तेरी शान माँ
साहिल हर दम सिमरा माँ झंडेया वाली
तेरा लख-लख शुक्र करा
download bhajan lyrics (12 downloads)