कुझ होर जोगियां नही मंग दे

कुझ होर जोगियां नही मंग दे साहनु मिल जे धुड तलाइया,
उस था दे दर्शन करने आ जिथे राखी किती गईयाँ दी,
कुझ होर जोगियां नही मंग दे साहनु मिल जे धुड तलाइया,

तू जिथे माँ रतनो दा जोगी बन के घुमदा सी,
तू जिधरो जोगी लंग जांदा राह तेरियां पैडा चुम्दा सी ,
चक मिटटी मथे ला लई आ तेरी गुफा ते जांदे राईया दे,
कुझ होर जोगियां नही मंग दे सहनु मिल जे धुड तलाइया,

तेरे दर दे जोगियां मंगते आ मंगते ही बन के रहना है,
तेरे नाम दा बाबा रंग पका असी रंगदे ही दिल रहना है,
पिरती वांगु सेवा करनी दर ते संगता आइया दी,
कुझ होर जोगियां नही मंग दे सहनु मिल जे धुड तलाइया,
download bhajan lyrics (22 downloads)