माये सहनु तेरा ही प्यार चाहिदा

माये सहनु तेरा ही प्यार चाहिदा
घट वध नहियो इक सार चाहिदा लगातार चाहिदा,
माये सहनु तेरा ही प्यार चाहिदा

कहंदे नहियो चन कोई नेड़े साडे ढंग दे,
चीज कोई महंगी तेरे कोलो नहियो मंगदे,
जो कीमता तो भरे ओह दुलार चाहिदा,
दुलार चाहिदा बेशुमार चाहिदा,
घट वध नहियो इक सार चाहिदा लगातार चाहिदा,
माये सहनु तेरा ही प्यार चाहिदा

ममता दा तेरे कोल भरेया खजाना है ,
झोलियाँ भरा के असी लेके आज जाना है,
जिनी बार आइये ओहनी बार चाहिदा,
ओहनी वार चाहिदा वेशुमार चाहिदा,
घट वध नहियो इक सार चाहिदा लगातार चाहिदा,
माये सहनु तेरा ही प्यार चाहिदा

तू देवे प्यार असी सत्कार देवागे,
सागर वांगु जीवन तेरे कर गुजार देवा गे,
रहना दर अपना भी हार चाहिदा,
बिहार चाहिदा वेसुमार चाहिदा,
घट वध नहियो इक सार चाहिदा लगातार चाहिदा,
माये सहनु तेरा ही प्यार चाहिदा
download bhajan lyrics (56 downloads)