रे राधा तने कहा लगा दी देर

रे राधा तने कहा लगा दी देर,
आज ते पूरी बात दिखा ली,
रे कान्हा मत मेरा आधा भेद ,
गुजरी दद वेचन ने चाली,
रे राधा तने कहा लगा दी देर,

तेरी कान्हा गह्लेला यारी निर्धन पे जे कु प्यारी
मने सारा माखन देदे मने भूख लाग रही भारी,
रे राधा तेरा जितना भी है माल,
उतार ले कर दू मटकी खाली,
रे कान्हा मत मेरा आधा भेद

क्यों मने वार करे से क्यों झूठा प्यार करे,
तने फ्री में माखन चाहिए मने क्यों लचार करे से,
रे काले मेरी लेवे न तू मेल बेठ के बात गले तू ठाली,
रे राधा तने कहा लगा दी देर,

तू दुखड़े सेम भरे से चुप होजा सी करे से,
यु क्रिशन झूठ न बोले तेरी चिंता रोज करे से,
राधा तने देदु दाम मैं डेर पहन ये सोख झुमके वाली,
रे कान्हा मत मेरा आधा भेद

तेरा माखन जब मैं दूंगी,
पल बंसी मधुर सुनु गी
तेरी बंसी की इस धुन पे मैं जी भर के नाचू गी
देविंदर मीठे सुर में ठेठ ये नीतु सुने सोलना वाली,
रे कान्हा मत मेरा आधा भेद
श्रेणी
download bhajan lyrics (58 downloads)