उलाम्बे सारे दूर हो गये

झंडे वाली ने मेहर बरसाई उलाम्बे सारे दूर हो गये,
माँ ने खुशिया दी मौज ऐसी लाइ उलाम्बे सारे दूर हो गये,

पूरा किता झंडे वाली माँ ने हर सवाल है,
भर दिति झोली साडी सूखा नाल है,
गल बिगड़ी है माँ ने बनाई उलाम्बे सारे दूर हो गये

झंडेवाली नाल साढ़े रेहँदी दिन रेन ऐ,
हर के बेचैनी साड़ी दिता सुख चैन ऐ,
याद दुखा दी दिल को बुलाई,
उलाम्बे सारे दूर हो गये

झंडेवाली दी सागर वेल ऐसी होइ है,
मन विच रहा न सिकवा न कोई ऐ,
दात मन चाहि मियां कोलो पाई,
उलाम्बे सारे दूर हो गये
download bhajan lyrics (95 downloads)