दर माँ दे गडी चली

दर माँ दे गडी चली बेह जो जय माँ बोल के,
माँ सब नु चिठ्ठी कल्ली बेह जो जय माँ बोल के,

गद्दी चली भगता वाली भेटा गुंजन बजदी ताली,
नाले भजदे छैना टली बेह्जो जय माँ बोल के,
दर माँ दे गडी चली बेह जो जय माँ बोल के,

पर्वत घाटी गद्दी घूम दी,
दर्द रावा नु  एह चुम दी,
क्यों सीट अजे ना मलि,बेह्जो जय माँ बोल के,
दर माँ दे गडी चली बेह जो जय माँ बोल के,

शोंकी बेह जा सीट है खाली,
मेहर करू मेहरा वाली नाले कर दू नजर सवाली,
बेह्जो जय माँ बोल के,
दर माँ दे गडी चली बेह जो जय माँ बोल के,