दे दर्शन इक बार दातिए कर किरपा

कई पैदल कई साईकला लेके कई मोटर कारा विच बह के,
पहुंचे तेरे दरबार दातिए कर किरपा दे दर्शन इक बार दातिए कर किरपा,

अपना अपना ढंग है सब दा  किवे तनु मनाउना,
शाम सवेरे तेरा दातिए किदा है गुण गौना,
करदे सोच विचार दातिए कर किरपा,
दे दर्शन इक बार दातिए कर किरपा,

कर किरपा तू जग कल्याणी अरजा माये करदे,
चरना दे विच बैठ तेरे माँ सारे हाजरी भर दे,
भरदे तू भण्डार दातिए कर किरपा,
दे दर्शन इक बार दातिए कर किरपा,

कई दण्डोता करदे कई पैदल चल के आये,
कई तेरी भेटा गाउँदे बावे वरगे माये,
लै फुला दे हार दातिए कर किरपा,
दे दर्शन इक बार दातिए कर किरपा,
download bhajan lyrics (477 downloads)