बीता जाए सांवरे हर महीना हर साल

बीता जाए सांवरे हर महीना हर साल,
तू इक बार देख ले बाबा तेरे भक्त का बुरा हाल,
बीता जाए सांवरे हर महीना हर साल

तेरे दर्श को पाना खातिर अखियां बहुत तरसती है,
तेरी याद में आके बाबा बस दिन रात बरसती है,
तेरे दर्श की खातिर बाबा घर बैठा तेरा लाल,
बीता जाए सांवरे हर महीना हर साल

तू ही शंकर तू ही ब्रह्मा तू ही कृष्ण कन्हियाँ है,
देदे सहारा शयाम सँवारे बीच ववर में नइयाँ है,
ना रहे सँवारे मन में मेरी मोह माया जन जाल,
बीता जाए सांवरे हर महीना हर साल

हर जीवन में श्याम सँवारे तुझे ही बस पाउ मैं,
इतनी दया कर देना सँवारे खाटू में वस् जाऊ मैं,
तू बन कर साथी बाबा इस जीवन को संभाल,
बीता जाए सांवरे हर महीना हर साल

दुनिया की परवाह नहीं जानवी गुण तेरी बाकी है,
हर ग्यारस पे श्याम सँवारे दर पे तेरी आती है,
इस अविनाश की बाबा हर संकट को तू टाल,
बीता जाए सांवरे हर महीना हर साल