तेरी ज्योत जगावन माँ

तेरी ज्योत जगावन माँ आया शहर सारे दा सारा,
तेरे दर ते संगत है नचदी नच नच के धुना है पट दी,
तेरा दर्शन पावन माँ आया शहर सारे दा सारा,
तेरी ज्योत जगावन माँ आया शहर सारे दा सारा,

तेरे दर ते झुल्दा झंडा माँ लिशकारे पाई जांदा है,
मुहो मंगियाँ मुरादा वंडदी है जो दर तेरे ते औंदा है,
दर छतर चड़ावन माँ आया शहर सारे दा सारा,
तेरी ज्योत जगावन माँ आया शहर सारे दा सारा,

तेरे दर ते जो भी औंदा है खाली हाथ कदे न जांदा है,
ओह लखा खुशियाँ पा लेनदा जो श्रधा नाल ध्याऊंदा है,
दर शीश झुकवन माँ आया शहर सारे दा सारा,
तेरी ज्योत जगावन माँ आया शहर सारे दा सारा,

तू लखा पापी तारे ने माँ भगता नु भी तार दी,
विपन भी माँ तेरे दर आया ओहदे विग्ड़े काज सवार दी,
तेनु दुखड़ा सुनवान माँ  आया शहर सारे दा सारा,
तेरी ज्योत जगावन माँ आया शहर सारे दा सारा,
download bhajan lyrics (126 downloads)