सोंह रब दी सइयां दा दरबार बड़ा सोहना

सोंह रब दी सइयां दा दरबार बड़ा सोहना,
रब ने फ़रमाया है मेरा यार बड़ा सोहना,

हर रस्ता नकोदर दा मैनु जान तो प्यारा है,
जेहड़ा रोज एह्दे वल जांदा बाज़ार बड़ा सोहना,
सोंह रब दी सइयां दा दरबार बड़ा सोहना,

मैं आप भी माड़ी हां मेरे लेख भी माडे ने,
पर मैं गम मारी दा गम खार बड़ा सोहना,
सोंह रब दी सइयां दा दरबार बड़ा सोहना,

दुनिया दे सफ़रा तो बंदा अक भी ते जांदा है,
पर सफर नकोदर दा हर वार बड़ा सोहना,
सोंह रब दी सइयां दा दरबार बड़ा सोहना,
श्रेणी
download bhajan lyrics (340 downloads)