मेरे कन्हैया मुझे भूल ना जाना

जन्म जन्म का साथ हमारा,
अगले जन्म भी साथ निभाना,
मेरे कन्हैया मुझे भूल ना जाना,

मैं दीवानी रंग केसरियां श्याम श्याम रट बनी सवारियां,
दिल दर्पण दर्पण में तुम हो,
इस दर्पण को तोड़ न जाना,
मेरे कन्हैया मुझे भूल ना जाना

मैं बन जाऊ पाँव पैजनियां,
तू मेरे साजन मैं तेरी सजनियाँ,
रिश्ता जन्म हर जन्म का अपना,
नया नहीं ये बरसो पुराना,
मेरे कन्हैया मुझे भूल ना जाना

कदम बढ़ाये तेरी डगरियाँ,
हाथ थाम लो मेरा सांवरियां,
मैं अनजाना और न अजनभि,
मैं हु तेरा जाना पहचाना,
मेरे कन्हैया मुझे भूल ना जाना