आजा खाटू धाम श्याम बनेगा सहाई

श्याम का दिल मुकती का द्वारा,
कहते वेद पुराण बस भावो का भूखा है,
कर देगा तेरा कल्याण,

होती ज़िंदगी से दुखो की विदाई,
आजा खाटू धाम श्याम बनेगा सहाई,
प्रेमियों का दुःख श्याम देख नहीं पाता है,
प्रेमियों की खातिर नंगे पाँव चला आता है,
प्रेमियों के प्रेम में श्याम बिक जाता है,
करे प्रेमियों से प्रेम की सगाई,
आजा खाटू धाम श्याम बनेगा सहाई,

देवता दयालु श्याम  दुनिया ने शोर है,
हारे का सहारा जग में दूजा नहीं और है,
जिसको ये चाहे उसे खींचे अपनी और है,
तेरी अर्जी पे करेगा सुनाई,
आजा खाटू धाम श्याम बनेगा सहाई,

श्याम के भरोसे मोहित सब कुछ छोड़ दे,
श्याम की रहो में प्यारे रहे अपनी मोड़ दे सांसो के तार मेरे सँवारे से जोड़ दे,
सिर पे हाथ तेरे रखे गा कन्हैया,
आजा खाटू धाम श्याम बनेगा सहाई,
download bhajan lyrics (101 downloads)