दर्शन दो दर्शन दो साई बाबा दर्शन दो

दर्शन दो दर्शन दो साई बाबा दर्शन दो,

डगमग डोलती नइयाँ आ के बनो तुम साई खवइयां,
सुन लो तुम मेरी पुकार,ओ सब के तुम पालनहार,
दर्शन दो दर्शन दो साई बाबा दर्शन दो,

हम बालक है तू है दाता,
हम सब का तू भाग्यविद्याता,
मंजिल मेरी तेरा द्वार,
सुन लो बाबा मेरी पुकार पालनहार पालनहार,
दर्शन दो दर्शन दो साई बाबा दर्शन दो,

आ पोहंचा हु तेरी नगरी दुनिया है कांटो की नगरी,
कांटो से हम को बचाना चरणों से भी हम को भी लगाना,
पालनहार पालनहार पालनहार,
दर्शन दो दर्शन दो साई बाबा दर्शन दो,
श्रेणी