खाटू वाले बाबा मेरे श्यामधनी

तर्ज़  :- मेरे प्यार की उम्र हो इतनी सनम

   ॥ जय श्री श्याम ॥

खाटू वाले बाबा मेरे श्याम धनी ।
तेरी किरपा की मुझको जरुरत घनी ।

1. तेरे दर पर लगाते है अरदास मेरे श्याम ।
  तुम सुनते हो सबकी और पूर्ण करते काम ।
  तुमसा दानी दयालु और न कही
  तेरी किरपा की मुझको जरुरत घनी ।

2. खाटू धाम है निराला और पावन मेरे श्याम ।
  विश्वास लेके मन में सब आते तेरे धाम ।
  तुम सुनते हो सबकी विनती धनी ।
  तेरी किरपा की मुझको जरुरत घनी ।

3. कहा जाऊ बतादे मुझको मेरे घनश्याम ।
  तेरे दर के सिवा  कुछ न अब दिखे मेरे श्याम ।
  सुनलो विनती ‘आलोक‘ की श्याम धनी ।
  तेरी किरपा की मुझको जरुरत घनी ।

   ॥  जय श्री श्याम ॥
download bhajan lyrics (176 downloads)