राधे रानी के चक्कर में श्याम जानना बन गया रे

राधे रानी के चक्कर में श्याम जानना बन गया रे,
चूड़ी वेचन गया महल में अरे महंगा पड़ गया रे,
राधे रानी के चक्कर में श्याम जानना बन गया रे

साडी पेहनी लेहंगा पेहना दहरा रुपेश लुगाई का,
लाम्बा लामबा घुँगटा काटया पूरा गच गया रे,
राधे रानी के चक्कर में श्याम जानना बन गया रे

चूड़ी लेलो चूड़ी लेलो गली महलो म्हारे है,
चूड़ी पहनावा राधा जी के पीछे पड़ गया रे,
राधे रानी के चक्कर में श्याम जानना बन गया रे

होले होले पहनावे चूड़ी कस के हाथ दबाबे रे,
हाथ मर्द का वेश जनाना खेल बिगड़ गया रे,
राधे रानी के चक्कर में श्याम जानना बन गया रे

ऐसा हाथ दबाया कस के पिट गया राधे रानी से,
हुई पिटाई बनवारी और कपड़ा उत्तर गया रे,
राधे रानी के चक्कर में श्याम जानना बन गया रे
श्रेणी
download bhajan lyrics (10 downloads)