प्यासे नेनो की प्यास

देख कर मंत्र मुग्ध हो गए भक्त गण
तेरा पर्दा हटाना गजब डा गया
प्यासे नेनो की प्यास और भी बढ़ गयी
तेरा दर्शन दिखाना गजब डा गया

अपने हिरदय में लेकर श्रधा अपार
भक्त करते है नित दिन तुम्हारा सिंगार
रंग बिरंगे फूलो से तेरा
सजना सवरना गजब डा गया
देख कर मंत्र मुग्ध........................

सबके हाथो में पिचकारी है और गुलाल
देखो फागुन ने केसा किया है धमाल
तेरे ही रंग में रंग गए भक्त गन
तेरा रंगना रंगाना गजब डा गया
देख कर मंत्र मुग्ध........................

अनवर गुजरती ने लिखा है भजन
इनको सवीकार कर लो ऐ खाटू रतन
बोले सब श्याम प्रेमी होक मगन
ऐ तुम्हारा तराना गजब डा
देख कर मंत्र मुग्ध........................
श्रेणी
download bhajan lyrics (14 downloads)