आना खाटू में बाबा मेरा काम था

आना खाटू में बाबा मेरा काम था,
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है,
तू सुने न सुने ये मर्जी तेरी,
अपने दिल की सुनाना मेरा काम है,
आना खाटू में बाबा मेरा काम था,

सारी दुनिये ने मुझको सताया बहुत अपनों ने गेरो ने आजमाया बहुत,
मैं तो उतरा हु दिल से सभी के प्रभु,
सीने से लगाना तेरा काम है,
तू सुने न सुने ये मर्जी तेरी,
अपने दिल की सुनाना मेरा काम है,
आना खाटू में बाबा मेरा काम था,

श्याम खुलती जुबा तेरे आगे नहीं यु ही अँखियो को आंसू में पड़ ले मुझे,
मैं तो आया हु दर पे तेरे हार के हारे को जिताना तेरा काम है,
आना खाटू में बाबा मेरा काम था....

है तमना बहादुर के गाता रहु हर दुखियो को खाटू ले जाता रहु,
प्रेमियों को भजन जब सुनाने लगु दो शब्द सुन के जाना तेरा काम हैल,
आना खाटू में बाबा मेरा काम था,