शिरडी में मेरे बाबा के चल कर के जो आ गया

शिरडी में मेरे बाबा के चल कर जो आ गया,
दुःख दूर हुए उसके सब कुछ वो पा गया,

चढ़ के जो तेरी सीडी समाधि पे जो आ गया,
जन्नत का वो नजारा तेरे दर से पा गया,
भटका हुआ मुसाफिर मंजिल को पा गया,
शिरडी में मेरे बाबा के चल कर जो आ गया,

गुण गान करू क्या मैं जग से छिपा भी क्या है,
तुजमे ही राम इसा तुझमे ही वो खुदा,
हर रूप में साई तू जग को लुबा गया,
शिरडी में मेरे बाबा के चल कर जो आ गया,

होते है तेरे चर्चे शरेआम ज़िंदगी में,
शिरडी में या काशी में वस्ता मदीने में,
चन्दर नवी के दिल में कहे समै गया ,
शिरडी में मेरे बाबा के चल कर जो आ गया,
श्रेणी
download bhajan lyrics (63 downloads)