सतगुरु का सन्देश यह बतला रहा

तर्ज- दिल के अरमा आंसुओं में बह गए...

टेक- सतगुरु का सन्देश यह बतला रहा,
      सारा जीवन यूँ ही बीता जा रहा ।

तुझ को अमृत भी मिला पर ना पीया,
विष को तू मदहोश पीटा जा रहा ।
सतगुरु का...

तू रहा विषयों में सुख को खोजता,
काँटों में फूलों की खुशबू चाह रहा ।
सतगुरु का...

अपने दुःख से तू नहीं इतना दुखी,
दूसरों का सुख ना देखा जा रहा ।
सतगुरु का...

औरों का दिल जीतेगा कैसे भला,
तुझ से अपना मन ना जीता जा रहा ।
सतगुरु का...
download bhajan lyrics (703 downloads)