शीश दे दिया दान में

खाटू वाले की दया का बाजे सारे जगत में डंका,
शीश दे दिया दान में
खाटूवाले की महिमा पे करना न कभी शंका,
सारा जग र रहा है सुमिरन खाटूवाले का,
शीश दान दे डाला संसार के उदार के लिया ,
खाटूवाले बाबा निराले है बड़े भोले भाले है,
पल झोली  बरने वाले है ,

बाबा खाटूवाले तू ही जाने भगतो के मन की पीड़ा ,
बाबा महिमा न तेरी किसी ने भी जानी,
तूजसे बड़ा कोई न दानी,
खाटूवाले बाबा निराले है बड़े भोले भाले है,
पल झोली  बरने वाले है,

सारा जग गाये तेरी महिमा
तू देव बड़ा दयालु भगतो का रखवाला
कहते गुरु आलू सिंह प्रभु का सच्चा दुवारा है
जो सच्चे मन से दयावे उस का बेडा पार है
कहता दास अविनाश बाबा बाबा तुम हारे को हो सहारे
हारा कभी दर से जाये ना खाली बरते तू उस की झोली
खाटूवाले बाबा निराले है बड़े भोले भाले है,
पल झोली  बरने वाले है

जय श्री श्याम
लेखक अविनाश शर्मा
अलवर राजस्थान
बाबा के आशीर्वाद से यह ३भजन है न कोई लेखक हु न कोई गायक बाबा लिखवाते है हम लिख लेते है
Av.sharma1995@gmail.com
download bhajan lyrics (19 downloads)