बड़ी दूर से चल कर के मैं खाटू नगरी आया

बड़ी दूर से चल कर के मैं खाटू नगरी आया,
तरह तरह का देसी खाना तेरी खातिर लाया,
सुन के टपकन लागि राल बाबा खा ले खा ले,
खा के हो जायेगा निहाल बाबा खा ले खा ले,

चूरमा देसी घी का बना से,
मेवा रे मिशरी माहे मिला से,
ओ संग में पचमेला है दाल बाबा खा ले खा ले,
ओ सब पे हो जाता निहाल बाबा खा ले खा ले,
खाना बना सा कमाल,

पेड़ा बर्फी रस मिलाई छाश रावडी खीर बनाई,
ओ पीये भर भर के थाल बाबा खा ले खा ले,
खाना बना सा कमाल............

खीचड़ भी बनवा के लाया,
मीठा ऊपर त बुरकाया,
घी के पिलये भर भर घाल बाबा  खा ले खा ले,
खाना बना सा कमाल,

खाया नहीं ज अब यो खाना,
भीम सैन सदा देगा उल्हाना,
इब नु बाता में टाल बाबा खा ले खा ले,
खा के हो जायेगा निहाल बाबा खा ले खा ले,
download bhajan lyrics (174 downloads)