हूँ न तोड़ी जोगी वे मेरी प्रेम वाली डोर

हूँ न तोड़ी जोगी वे मेरी प्रेम वाली डोर,
प्रेम वाली डोर जोगी प्रेम वाली डोर,
हूँ न तोड़ी जोगी वे मेरी प्रेम वाली डोर,

प्रेम तेरे विच पागल होक तेरियां करा उडीका,
देखि किधरे तुर न जावी पाके गुड़ प्रीता,
पावा ऊंची ऊंची शोर मेरा चलदा नहीं जोर,
हूँ न तोड़ी जोगी वे मेरी प्रेम वाली डोर,

टूट दे टूट दे टूट जांदी है ओ गल फिर न रेहँदी,
तेरे चरना विच बह के तनु एह गल केहन्दी,
किथे बनाना कठोर तेरे बिन न कोई होर,
हूँ न तोड़ी जोगी वे मेरी प्रेम वाली डोर,
download bhajan lyrics (122 downloads)