पानी से दीप जला कर साई

पानी से दीप जला कर साई किया रे शिरडी उजाला,
खोले ते किस्मत का ताला साई शिरडी वाला,

हाथो में चिलम बगल में चिमटा साई का शृंगार है,
हिन्दू मुश्लिम सिख ईसाई शिरडी सब का द्वार है,
बोलो रे अल्ल्हा साई बोलो रे मौला साई,
बोले रे राम साई बोलो रे राम साई,
सिर पे पटका बदन पे चोला कैसा है वो निराला,
खोले रे किस्मत का ताला,साई रे शिरडी वाला

कभी पालकी पे बैठे कभी नीव छाव रे,
बिक्शा मांगे घर घर वो भी नंगे पाँव रे,
बोलो रे प्रेम से साई जग में एक है साई,
बोलो साँचा साई बोलो श्याम साई,
बोला बाला शंकर साई वही है डमरू वाला,
खोले रे किस्मत का ताला,साई रे शिरडी वाला
श्रेणी
download bhajan lyrics (45 downloads)