मेरे जोगी कर्म कमा दिता

थोड़ कोई न छड़ी जोगी औकात तो वध के दे देता,
मेरे जोगी कर्म कमा दिता अम्बरा विच उड़न ला दिता,

मिन्ता तरले पाये सी सब दे पेश कोई न चली सी,
हर था भटक भटक के बाबा चौकठ तेरी मली सी,
कोई नहीं सी बन दा मेरा आज सब नु मेरा बना दिता,

योगी बिना न पूछियां जग ते किसे ने साड़ियां सारा ने,
इक डोर सी सिद्ध जोगी ते होर न किते जाना है,
ऐसी रेहमत होइ नाथ दी मंजिला च फूल महका दिता,
मेरे जोगी कर्म कमा दिता अम्बरा विच उड़न ला दिता,

जो भी बोला सच मैं बोला मेरियाँ एह अरदासा सी,
ऐसी किरपा होइ नाथ दी मिट गइयाँ सब प्यासा सी,
गोल्डी परधट  सिद्ध जोगी ने साडा हर इक बोल पूगा दिता,
मेरे जोगी कर्म कमा दिता अम्बरा विच उड़न ला दिता,
download bhajan lyrics (146 downloads)