मंदिर दे कोन्या च

मंदिर दे कोन्या च दे दे कोई कोना माँ,
जित्थे बह के रो लाइए उमरा दा रोना माँ,

लोका अग्गे रोन वाले बनदे मखौल ने ,
हंजूवा दे मोती लोकी पथरा च तोल दे,
दुजया दा दुःख हुंदा लोका लई खिडोना माँ
जित्थे बह के रो लाइए उमरा दा रोना माँ,

दिला दा गुमार दस कीद्दे अगे के कडिये,
पलड़ा उदासिया दा कीद्दे अगे अडिये,
कोई तेरे जेहा हमदर्द नइयो होना माँ,
जित्थे बह के रो लाइए उमरा दा रोना माँ,

अपने नसीबा उत्ते चलदा न जोर माँ,
हारेया बच्या ते करे कोण गौर माँ ,
दुःख अपना के अस्सा आप ही ढोना माँ,
जित्थे बह के रो लाइए उमरा दा रोना माँ,

केहन नू ते साथी सारे चतर चलाक ने ,
डुब डुब जांदे चंगे चंगे तैराक ने ,
साहिल ते वेख्या ए डुबना डुबोना माँ,  
जित्थे बह के रो लाइए उमरा दा रोना माँ,
download bhajan lyrics (51 downloads)