महापे जमवाय माँ की किरपा होई

महापे जमवाय माँ की किरपा होई
फूले- फले परिवार
महापे जमवाय माँ की
मइया की किरपा से म्हारो भर्यो रवै भण्डार
महापे जमवाय माँ की

जब कोई विपदा सर पे आवे मनड़ो न घबरावै जी
सौंप दे मइया के हाथो नैया की पतवार
महापे जमवाय माँ की
महापे जमवाय माँ की किरपा होई
फूले- फले परिवार

अपनी चुनड़ी की छैया में हरदम राखे म्हाने जी
म्हारो तो म्हारी मइया पे पुरो दारमदार
महापे जमवाय माँ की
महापे जमवाय माँ की किरपा होई
फूले- फले परिवार

सबके बस की बात नही है,कुण इतनी परवाह करे
म्हारे घर को ध्यान माँ राखे,बन के पहरेदार
महापे जमवाय माँ की
महापे जमवाय माँ की किरपा होई
फूले- फले परिवार

कहे पवन के करे भरोसो जो अपनी कुलदेवी पे
सोने-चांदी धन दौलत की खूब रहे भरमार
महापे जमवाय माँ की
महापे जमवाय माँ की किरपा होई
फूले- फले परिवार

महापे जमवाय माँ की किरपा होई
फूले- फले परिवार
महापे जमवाय माँ की
मइया की किरपा से म्हारो भर्यो रवै भण्डार
महापे जमवाय माँ की

संपर्क - +919831258090
download bhajan lyrics (480 downloads)