आजो भगतो मैया दे दरबार चलिये,

आये चाले सोहन दे अम्बे नु ध्याउन दे,
ज्योता वाली नु ध्याइये सुते भाग जगाइए ,
शेरावाली माँ दा करण दीदार चलिये
आजो भगतो मैया दे दरबार चलिये,

निगड़ा प्यार माँ दा डूबदिया नु तार दा,
ओहने वेहड़ा पार लौना सारे संसार दा,
भेद भाव नु मिटा के उच नीच नु भुला के,
लॉन सिर तो मुसीबतां दा भार चलिये,
आजो भगतो मैया दे दरबार चलिये,

जेहड़ा बंदा पापी ते हनकारी हॉवे दिल दा,
माता दा आशीर्वाद उस नु नई मिलदा,
रिजा तनो मनो लाके नाल मोतियां सजाके,
माँ छतर चढ़ोन हर बार चलिये,
आजो भगतो मैया दे दरबार चलिये,

चढ़ के पहाड़ा माँ दे मंदिर पधारिये,
ऐहडी तलवंडी दिया हिम तो न हारिये,
ओहदा करके दीदार लाइए कष्ट निवार,
गल अम्बे दे फुला दा पौन हार चलिये,
आजो भगतो मैया दे दरबार चलिये,
श्रेणी
download bhajan lyrics (40 downloads)