छुप छुप के देखे भाई

छुप छुप के देखे भाई जो बाबो तेरी कमाई,
तूने जोड़ी पाई पाई अब करले थोड़ी समाई,
छुप छुप के देखे भाई जो बाबो तेरी कमाई,

तू जोड़ तोड़ में हो रो,
कदे न मन में विचारियो,
जो तिरलोकी को प्यारो दुनिया को करदो निधारो,
अब आफ़त गले में आई मच रही है घर में लड़ाई,
छुप छुप के देखे भाई जो बाबो तेरी कमाई,

प्यारे श्याम सुमर  मन गेला यो बाबो देवे हेला,
यो चार दिनों का मेला तुझे रहना यहाँ अकेला,
तप करके मीरा भाई तुलसी ने लग्न लगाई,
छुप छुप के देखे भाई जो बाबो तेरी कमाई,

थी भोली जाट की बेटी या थारे भरोसे बैठी,
श्याम भरोसे खेती हॉवे चन्ना बाजरा मेथी,
कर नाम कमाई गई हिरदये में ज्योत जलाई,
छुप छुप के देखे भाई जो बाबो तेरी कमाई,

यह जोर चले न तेरा श्याम ने सबको गेरा,
तन प्रेम रत्न धन हीरा,
ये सेठ सांवरिया मेरा,
सज्जन ने चुनरी रंगाई विनोद ने ओड सजाई,
छुप छुप के देखे भाई जो बाबो तेरी कमाई,
download bhajan lyrics (50 downloads)