आजा मैया शेरावाली हो गुण गाऊँ मैं तेरा

आजा मैया शेरावाली हो गुण गाऊँ मैं तेरा,

शुम्ब निशुब मैया ने मारे महिषासुर भी मारे वो,
काटा शीश भेरो बलि का फिर भी उसको तारा वो,
पर्वत पे तेरा डेरा,
आजा मैया शेरावाली हो गुण गाऊँ मैं तेरा,

ब्रह्माणी रूदारी मैया तू ही कमला रानी हो,
आ गम निगम बखानी तुम ही शिव पट रानी हो,
दुखो का तोड़ो गेरा,
आजा मैया शेरावाली हो गुण गाऊँ मैं तेरा,

निराकार जीतोई तुम्हारी फैली उजारि,
माथे मांग टिका मैया ओढे चुनरिया प्यारी हो,
भाग्ये जगा दो मेरा ,
आजा मैया शेरावाली हो गुण गाऊँ मैं तेरा,

राण में मैया तुम ही चंडी,
हिल्लाज भवानी हो इस जग की तुम ही रक्षकः महिमा निराली हो,
देख सहारा तेरा,
आजा मैया शेरावाली हो गुण गाऊँ मैं तेरा,