श्री राम नगरी वसे सरयू के तीरे

श्री राम नगरी वसे सरयू के तीरे
यहाँ  कण कण में राम,
यहाँ घर घर श्री राम,
यहाँ कल कल थल थल सरयू जल में राम,
रामायण गाये बदरिया धीरे धीरे,
श्री राम नगरी वसे सरयू के तीरे

सत पुरियो में अवथ पूरी है प्रभु श्री राम की जन्म भूमि है,
याहा सरयू नदियां पतितपावन नदियां यहाँ सान चढ़े प्राण तरे धीरे धीरे,
श्री राम नगरी वसे सरयू के तीरे,

राम जन्म भूमि की महिमा गाओ,
कनक भवन में शीश झुकाओ,
जय अयोध्या धाम जय जय श्री राम,
हनुमान गली में बजरंग बलि का करो दर्शन सफल हो जीवन धीरे धीरे,
श्री राम नगरी वसे सरयू के तीरे,

अवध की माटी का चन्दन लगाओ राम चरण में लग्न लगाओ,
सिया राम मिले हनुमान मिले,
सारे बिगड़ी बन जाए फिर धीरे धीरे,
श्री राम नगरी वसे सरयू के तीरे,
श्रेणी