ना मैनूं मक्खन चाहिदा

ना मैनूं मक्खन चाहिदा,
न दूध मलाई चाहिदी,
राधा नाल तू मेरा विवहा करवादे माई नि,
ना मैनूं मक्खन चाहिदा,

कदो तक मैं गैया लेके जंगला विच चरावा,
कदो तक मैं बंसी लेके यमुना नीर बजावा,
बरसाने दा इक फेरा लगवा दे माई नि,
ना मैनूं मक्खन चाहिदा.....

कदो तक मैं ग्वाला दे नल अपना जी बहलावा,
कदो तक मैं संग गोपियाँ नित नित रास रचावा,
हूँ राधा नाल कन्हैया ना लिखवाडे माई नि,
ना मैनूं मक्खन चाहिदा,

कदो तक मैं नन्द गांव तो चल वृन्दावन जावा,
कदो तक बरसाने तो मैं राधा न मिलन भुलावा,
रोज रोज दा गेड़ा आज मुका दे माई नि,
ना मैनूं मक्खन चाहिदा,
श्रेणी
download bhajan lyrics (192 downloads)