बंसी की धुन पर मस्ती में झूमे

बंसी की धुन पर मस्ती में झूमे,
सारा गोकुल धाम नींद उड़ाई चैन चुराए नटवर नगर श्याम,
बोलो हाथी गोडा पालकी जय कन्हैया लाल की,

मथुरा गोकुल वृद्धावन में गूंजे राधे कृष्णा,
रास रचावे नटवर नागर कान्हा मिटावे तृष्णा,
सुध भुध शीन लई है सोबन की कौन करे अब काम,
नींद उड़ाई चैन चुराए नटवर नगर श्याम,

मटकी से माखन चुरावे माखन चोर मुरारी,
कमल नैन मटकावे कान्हा मुस्कावे बनवारी,
हसी ठिठोली छेड़ करे वो करने न दे आराम,
नींद उड़ाई चैन चुराए नटवर नगर श्याम,
बोलो हाथी गोडा पालकी जय कन्हैया लाल की,

श्रेणी