आरती युगल वर की कीजे

*आरती युगल वर की कीजै।*
*आरती युगल कुञ्ज की कीजै।*

*नवल मनोहर झांकी प्यारी*
*मृदुल भाव कुञ्ज की क्यारी।*

*दर्शन करि मन न्यौछावर कीजै।*


*आरती युगलजोरि की कीजै।*

*अटकत मटकत अंखिया प्यारी*
*भावमय जय युगलकुंजबिहारी*

*लटकती मटकती बलेय्या लीजै।*

*आरती युगलरूप की कीजै।*

*भानुदुलारी श्री नन्दमुरारि रसमय*
*चितवन भावत प्यारी*

*बलखाती सखी नृत्य कीजै।*

*आरती युगलजोरि की कीजै।*

*गलबहियां डारत सखी अनुपम*
*मोरमुकुट चन्द्रिका अति रूपम*

*भावदर्शनामृत धार खूब पीजै।*

*आरती युगल किशोर की कीजै।*


*चवर डुलावत अष्टसखिया प्यारी*
*सेवा करत सब मञ्जरी न्यारी*

*भावभरी कुञ्जसखी रूप लीजै।*

*आरती मृदुलकिशोर की कीजै।*

*जय जय बरसाने वारी*
*ह्रदय बिराजत श्री गरीब बिहारी*

*सखियन जनम सफल अब कीजै।*

*आरती युगलकुंज की कीजै।*

*अपनों भाव अर्पण कर दीजै।*

*कुञ्ज में सखी दर्शन कीजै।*

भागवताचार्य●अंकुरनारायण दुबे ,,प्रतीक दुबे
  【श्रीधाम वृंदावन~इंदौर】
श्रेणी
download bhajan lyrics (54 downloads)